पारा शिक्षिका की मौत का एनएचआरसीसीबी ने लिया संज्ञान

पारा शिक्षिका की मौत का एनएचआरसीसीबी ने लिया संज्ञान

read this post here लातेहार (चंदवा): राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं अपराध नियंत्रण ब्यूरो के लातेहार टीम ने मृतक पारा शिक्षिका स्व0 शांती देवी के परिवार से उनके घर चंदवा हुटाप संज्ञान लेने पहुँची जहाँ उनके परिवार को आर्थिक सहयोग के रूप में 1000/- रुपये दिये ।

buy modafinil online uk

next page मामले को संज्ञान में लेने से यह साफ़-साफ पता चला की उनकी मौत मानसिक तनाव, आर्थिक बोझ और शारीरिक तकलीफ के कारण हुआ जिसका जिम्मेवार झारखंड सरकार है । एन एच आर सी सी बी के जिला अध्यक्ष हरिओम प्रसाद भाटिया ने कहा की पारा शिक्षिका को तीन माह से मानदेय नहीं मिला था ऊपर से एक दिव्यांग पति और तीन छोटे बच्चें का भरण-पोषण की जिम्मेवारी उन्हीं पर थी तो उनकी क्या गलती थी और अन्य राज्यों में पारा शिक्षकों को उचित मानदेय मिलती है पर झारखंड में बहुत ही कम । जिला महासचिव ओमप्रकाश प्रसाद ने यह भी बताया की पूरे झारखंड में पारा शिक्षकों का अधिकार का हनन हो रहा है जो आर्थिक मानसिक व शारीरिक सभी स्तर पर व्याप्त है इसे आयोग को लिखेंगे और सरकार को बुरी तरह घेरेंगे जब तक इन्हे पूर्ण अधिकार न मिल जाय ।

एनएचआरसीसीबी जिला उपाध्यक्ष अजय कुमार यादव ने कहा की तत्काल नियमानुकूल जो मृतक के परिजनों को मिलनी है वो सारी सुविधाएँ तत्काल मिले जिसे प्रखंड विकास पदाधिकारी चंदवा को लिखीत दुँगा । जिला मिडिया प्रभारी पिंटू कुमार रजक ने कहा की यह एक अति गम्भीर मामला है जो आये दिन मिडिया में आती रहती है इस समस्या के समाधान के लिये दिल्ली आयोग की बैठक में झारखंड के पारा शिक्षक की इस गम्भीर समस्या को रखूँगा । मौंके पर पारा शिक्षक संघ के चन्दवा प्रखंड अध्यक्ष मो0 बेलाल अहमद,भुवन भाष्कर,बीरेंद्र कुमार यादव, प्रेम प्रकाश उरांव, गोविंदा कुमार, जगदीश उरांव, चंद्रदेव सिंह, राखी क्रिस्पोटा, सतवान कुमार, विगन राम सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित थे।

Add Comment